Khamoshiyan Sad Poetry | Poetry in Hindi

Sometimes you don't need to write a lot to express your feeling towards someone. This category is for sad poetry and sad poems when just a few lines will do. Feelings are not complex but we have to express our feeling in a right way. When we allow ourselves to feel them in a pure undiluted way, we often begin the process of releasing pent up sadness. When you want to tell the story and the reasons behind the feeling, that will often turn into a longer poem or poetry. Both of these styles of telling are equally true and valid. It is simply a matter of what needs to be expressed in the moment.
sad poetry hindi
💖Khamoshiyan💖

Khamoshiyo se Mohabbat ho gayi hai muje
Kyuki meri baaton ko koi samajta nahi
Sab apna dard bayan karet hai mujse 
Aur mere dil ke jasbaato ko koi sunta nahi
Ek khilona sa ho gaya hai mear dil 
Har koi Mere Dil se khel kar chla jata hai
Udas Hote hai tab meri yaad aati hai sabko
Aur khush hone par har koi muje bhul jata hai
Kyu koi samjhata nahi muje 
Kyu koi apna bnana nahi chahata 
Kya Mai sirf Tanhai ke liye bana hoon
Kyu mere Dil se ye Dard saha nahi jata 
Ae Rab Tujse bas sacha pyar he toh mangta hun
Kyu Tuje mere haalat par taras nahi aata
Afasos hai auro ke liye jiya saari umar
Kaash Muje khud ke liye bhi jina aata 
Har Raat rote hue sochta hoon
Mai bhi badal jaunga ab
Par Mera Dil pighal jata hai
Koi udaasi mein pukarta hai jab
Kaas mai Mohabbat mein 
Dar badar Thokar na khata
Kaash Muje logo ki traha badalna aata
Par ab kisika Mohtaj nahi mai
Khamoshiyo mein Mera Dil lagne laga hai
Roota nahi raaton Mai raaton mein akshar
Khamoshiyo mein Mera Dil hasne laga hai
Suno agar tumhara bhi Dil tuta hai
Toh ye baatein Tumhare Dil ko chu gayi hogi
Unki gairmojudgi sehne lage ho na Tum
Tumhe bhi khamoshiyo se Mohabbat ho gayi hogi
Tumhe bhi khamoshiyo se Mohabbat ho gayi hogi.......

Read More - Shukriya Heartbroken Poetry | Sad Poetry Collection

💖खामोशियाँ 💖

खामोशियों से मोहब्बत हो गई है मुझे 
क्योंकि मेरी बातों को कोई समझता नहीं 
सब अपना दर्द बयां करते हैं मुझसे 
और मेरे दिल के जज्बातों को कोई सुनता नहीं 
एक खिलौना सा हो गया है मेरा दिल 
हर कोई मेरे दिल से खेल कर चला जाता है चला जाता है कर चला जाता है चला जाता है 
उदास होते हैं तब मेरी याद आती है सबको 
और खुश होने पर हर कोई मुझे भूल जाता है 
क्यों कोई समझता नहीं मुझे 
क्यों कोई अपना बनाना नहीं चाहता 
क्या मैं सिर्फ तन्हाई के लिए बना हूं 
क्यों मेरे दिल से यह दर्द सहा नहीं जाता 
अ रब तुझसे बस सच्चा प्यार ही तो मांगता हूं 
क्यों तुझे मेरे हालात पर तरस नहीं आता 
अफसोस है औरों के लिए जिया सारी उम्र 
काश मुझे खुद के लिए भी जीना जीना आता 
हर रात रोते हुए सोचता हूं 
मैं भी बदल जाऊंगा अब 
पर मेरा दिल पिघल जाता है 
कोई उदासी में पुकारता है जब 
काश में मोहब्बत में दरबदर ठोकर न खाता 
काश मुझे लोगों की तरह बदलना आता 
पर अब किसी का मोहताज नहीं मैं 
खामोशियों में मेरा दिल लगने लगा है 
रोता नहीं रातों में रातों में अक्सर 
खामोशियों में मेरा दिल हंसने लगा है 
सुनो अगर तुम्हारा दिल भी टूटा है 
तो यह बातें तुम्हारे दिल को छू गई होंगी 
उनकी गैरमौजूदगी रहने लगे हो ना तुम 
तुम्हें भी खामोशियों से मोहब्बत हो गई होगी 
तुम्हें भी खामोशियों से मोहब्बत हो गई होगी.....

Read More - Love Poetry | Tuje kis tarha batayen hum


I hope you guys like our sad poetry. If you want to read some more poetries and shayari like this you can check it on our website. we are providing daily latest shayari and poetry collection in hindi. If you like our poetry you can share it with your friends and loved ones.